अग्रसेन भवन में तीन दिवसीय बसंत मेला का आयोजन

आरती सिन्हा


रांची: राजधानी राँची के अपर बाजार स्थित अग्रसेन भवन में तीन दिवसीय बसंत मेला का आयोजन किया गया। मेले का उद्घाटन बतौर मुख्य अथिति उपस्थित संजय सेठ और उनकी धर्म पत्नी के द्वारा किया गया।

यह मेला 27, 28 और 29 मार्च तक रहेगा। जिसमें कई राज्यों के लोगों शिरकत करते नज़र आएंगे। यहाँ अधीकतर कपड़ों के स्टॉल लगे हुए हैं, जो कि आगामी गर्मी के मौसम को ध्यान में रखते हुए लगाए गए हैं।

मेले में लगे स्टॉल

कुछ स्टॉल हस्तशिल्प से भरपूर हैं, जिसमें घर में सजावट के लिए हस्तनिर्मित सामग्रियों के अंबार लगाए गए हैं। वहीं दूसरी ओर कुछ दुकानों में लड्डू गोपाल और शक्तियों की देवी माने जाने वालीं माँ दुर्गा के पोशाक भी लगे हुए हैं।


पश्चिम बंगाल के रानीगंज से आयीं पुनीता अग्रवाल बताती हैं कि वह लड्डू गोपाल और अन्य देवी देवताओं के पोशाक बनाने का कार्य 2 सालों से करती आ रही हैं, और यह काम खुद ब खुद बस देखकर सीखा है। इससे पहले वह एक गृहणी थी। उनके स्टॉल पर तरह-तरह के आकर्षक बंदरवाल, तकिया मसान्ट, कमर धनी और भगवान के प्यारे प्यारे पोशाक लगे हुए थे, जो कि ग्राहकों को अपनी तरफ आकर्षित कर रहे थे।

मेले का मुख्य उद्देश्य:

यह मेला उन महिलाओं के लिए है जो कि अपने गृहस्थ जीवन में उलझकर अपनी प्रतिभा का प्रदर्शन नहीं कर पाती, वे महिलाएं इस मेले में भाग लेकर अपनी लुप्त हो चूकी हस्तकला की प्रतिभा को वापस निखार सकती हैं।

उपरोक्त चीजो़ं से परे यहाँ एक और दिल को छू जाने वाली चीज़ भी देखने को मिली। दरअसल समाज में हो रहे बलात्कार जैसे जगन्य अपराध के विरुद्ध कुछ महिलाओं द्वारा एक कैनवास पर 3000 लोगों का हस्ताक्षर लेकर प्रधानमंत्री तक भेजने की भी योजना है ।जिससे कि समाज में एक अच्छा संदेश भी जाएगा।

मेले का देख रेख क्रमशः अन्नू पोद्दार, मंजू केडिया, शुशीला गुप्ता, गीता डालमिया, शोभा जाजू, सरिता अग्रवाल, नैना मौर, अलका अग्रवाल, रीता केडिया, रीना सुरेका, शालिनी शर्मा सहित दर्जनों संख्या में महिलाएं कर रही हैं।


 

error: Content is protected !!
WhatsApp chat

हमारे मासिक पत्रिका समृद्ध झारखण्ड की अपनी प्रति आज ही सुरक्षित करने के लिए पर क्लिक करें।