रांची सीट पर छठी बार भाजपा का कब्जा

  • संजय ने सुबोधकांत को 283026 मतों से हराया
स्टेट ब्यूरो: रामटहल चौधरी के भाजपा से बागी होकर निर्दलीय चुनाव लड़ने के बाद ऐसा कयास लगाया जा रहा था, कि वे भाजपा के जीत में खलनायक की भूमिका अदा कर सकते हैं व कांग्रेस के प्रत्याशी सुबोधकांत के जीत का मार्ग प्रशस्त होने के कयास भी लगाये जा रहे थे, लेकिन जनता ने भीतर ही भीतर दूसरा फैसला कर रखा था। रांची संसदीय सीट पर भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने छठी बार अपना कब्जा कर लिया है। पार्टी की टिकट पर पहली बार लोकसभा चुनाव लड़ रहे संजय सेठ ने कांग्रेस के दिग्गज नेता सुबोधकांत सहाय को 2 लाख 83 हजार 26 मतों से हरा दिया है। इस जीत के नायक बने हैं- पीएम मोदी। मोदी लहर में न सिर्फ रांची बल्कि प्रदेश की 12 सीटों पर विजय श्री प्राप्त की है।
WhatsApp Image 2019-05-03 at 5.54.00 PM
खास बात यह है कि भाजपा प्रत्याशी संजय सेठ को रिकॉर्ड 60 फीसदी से ज्यादा मत मिले हैं। उन्हें कुल 7 लाख से अधिक वोट मिले, जबकि रामटहल चौधरी 29454 ( 2.4 फीसदी) वोट मिला व वे तीसरे स्थान पर रहे। रांची से कुल 20 प्रत्याशी चुनावी समर में कूदे थे। गौरतलब है कि राजधानी की सीट पर कांग्रेस व भाजपा के बीच ही टक्कर होती रही है। एक बार बीएलडी और एक बार जनता दल ने इस सीट पर जीत दर्ज की थी। इससे पहले भाजपा ने पांच बार, तो कांग्रेस ने छह बार इस सीट पर कब्जा किया है। भाजपा के टिकट पर पांच बार रामटहल चौधरी रांची से संसद पंहुचे हैं। इस बार पार्टी ने टिकट काटा, तो ये बागी होकर भाजपा प्रत्याशी संजय सेठ को हराने के लिए निर्दलीय चुनाव लड़ गये। हालांकि इससे भाजपा को कोई भी नुकसान नही हुआ। संजय सेठ बड़े अंतर से चुनाव जीत गये। रामटहल चौधरी महज 29 हजार 597 वोट ही ला सके। कांग्रेस के लिये रांची से दो बार शिव प्रसाद साहू व दो बार सुबोधकांत सहाय ने चुनाव जीता है। सुबोधकांत सहाय एक बार जनता दल की टिकट पर भी चुनाव जीत चुके हैं।

यह भी पढ़ें:

error: Content is protected !!
WhatsApp chat

हमारे मासिक पत्रिका समृद्ध झारखण्ड की अपनी प्रति आज ही सुरक्षित करने के लिए पर क्लिक करें।