देश का सबसे बड़ा 33 फीट चौड़ा व 15 फीट ऊंचा चरखा होगा महोत्सव में आकर्षण का केंद्र

  • मेले के लिए बने कुल 12 हैंगर में एक हजार से अधिक स्टॉल लगेंगे

रांची: खादी एवं ग्रामोद्योग बोर्ड के अध्यक्ष संजय सेठ ने कहा कि राष्ट्रीय खादी एवं सरस महोत्सव 22 दिसंबर को आमलोगों के लिए खोल दिए जायेंगे। मोरहाबादी मैदान में लगने वाले महोत्सव की तैयारियां अंतिम चरण में हैं। मेले में कुल 12 हैंगर बनाये जा रहे हैं। इसमें एक हजार से अधिक स्टॉल लगाये गए हैं। सभी हैंगरों के नाम झारखंड के जलप्रपातों जोन्हा, दशम, हिरणी, हुण्डू, पंचघाघ सहित अन्य पर रखा गया है। महोत्सव का उद्घाटन मुख्यमंत्री रघुवर दास करेंगे। महोत्सव सात जनवरी तक चलेगा। श्री सेठ मंगलवार को मोरहाबादी स्थित आयोजन स्थल पर पत्रकारों से बात कर रहे थे।

श्री सेठ ने कहा कि मोहत्सव परिसर को राष्ट्रपिता महात्मा गांधी नगर के नाम से जाना जायेगा। मेले का उदेश्य लघु व कुटीर उद्योग के शिल्पकारों को बड़े स्तर पर बाजार उपलब्ध कराना है। देश के विभिन्न राज्यों एवं प्रदेश के शिल्पाकार उत्पादों की प्रदर्शनी लगाकर उचित मूल्यों पर समानों की ब्रिकी कर सकेंगे। वहीं महोत्सव में पहली बार सुरजकुण्ड मेला हरियाण की तर्ज पर खादी सरस हाट् को लगाया जायेगा। इसमें एक सौ वैसे शिल्पकार जो प्रदेश के ग्रामीण क्षेत्र में रहते हैं, उन्हें प्राथमिका दी जाएगी। महोत्सव में मुख्य आकर्षण का केंद्र देश का सबसे बड़ा 33 फीट चौड़ा व 15 फीट ऊंचा चरखा होगा।

उन्होंने कहा कि महोत्सव पूरी तरह से कैश लेश रहेगा। इन सुविधाओं के लिए विभिन्न बैकों द्वारा बैंकिग सेवाओं को प्रदान पर सहमति बनी है। साथ ही परिसर में मोबाईल एटीएम, क्वाईन वैन सहित अन्य सुविधा लोगों के लिए मौजूद रहेगा। मेला पूर्ण रूप से प्लास्टिक फ्री जोन रहेगा। लोगों के लिए प्रवेश शुल्क दस रुपये रखा गया है। रोजाना टिकट पर लक्की ड्रा निकाला जाएगा। महोत्सव का आनंद सुबह 10 बजे से रात्रि नौ बजे तक उठा सकते हैं। वहीं बूढ़े और विकलांग के लिए चार ई-रिक्शा की नि: शुल्क व्यवस्था की गयी है। बच्चों के मनोरंजन के लिए आधुनिक झूले के साथ 40 फूड स्टॉल भी उपलब्ध होंगे। मौके पर मुख्य कार्यपालक पदाधिकारी दीपाकर पंडा, बाल संरक्षक आयोग की अध्यक्ष आरती कुजूर, ग्रामीण विकास विभाग के संयुक्त सचिव शिवेंद्र सिन्हा सहित अन्य उपस्थित थे।

रोजाना होगे सांस्कृतिक कार्यक्रम: महोत्सव में प्रतिदिन बच्चों के लिए लेखन, चित्रांकन, गायन, एकल नृत्य सहित अन्य प्रतियोगिता आयोजित किये जायेगा। मिस्टर और मिस खादी प्रतियोगिता होगी। इसको लेकर सभी कॉलेजों को आमंत्रित दिया गया है। जिसका फार्म खादी बोर्ड एवं मेला परिसर के कार्यालय में उपलब्ध रहेगा। वहीं परिसर में जगह-जगह सीसीटीवी कैंमरे लगाये गये हैं।

error: Content is protected !!
WhatsApp chat

हमारे मासिक पत्रिका समृद्ध झारखण्ड की अपनी प्रति आज ही सुरक्षित करने के लिए पर क्लिक करें।