पोलकिरी के कलाकारों ने किया “मृत्यु वासोरे फुलो सज्जा” बंगला जात्रा का मंचन

चंदनकियारी: स्थानीय हटिया मैदान में राज्य सरकार के कला संस्कृति मंत्रालय के सहयोग से चंदनकियारी महोत्सव समिति द्वारा आयोजित बांग्ला जात्रा सह नाट्य मंचन प्रतियोगिता 2018 के 18 वें दिन पोलकिरी ग्राम बाबा भैरवनाथ अपेरा के द्वारा कलाकारों ने मृत्यु वासोरे फुलो सज्जा का मंचन किया गया। इस नाटक के माध्यम से समाज में व्याप्त दानव रूपी दहेज प्रथा पर आधारित हैं। 
वहीं दूसरी ओर एक भंडसाधू समाज के लोगों में विश्वास दिखा कर अंधविश्वास का पाठ पढ़ा कर लड़कियों विदेश में बेचता हैं। स्थानीय कलाकारों ने वर्तमान समाज मे ब्याप्त विकृत मानसिकता के शिकार लोगों के महत्वाकांक्षी रवैये के कारण घट रही अनहोनी व सामाजिक विकृति पर चित्रण किया।
जिससे लोगों को सन्तोषी जीवन व्यतीत कर सुख व शांति प्राप्त करने की शिक्षा दी गयी। नाटक के माध्यम से पूंजीपतियों के हाथों न्याय व्यवस्था को बिकने की परंपरा पर कुठाराघात किया गया। नाटक के दौरान वर्तमान समय मे राजनीति में ब्याप्त भ्रष्टाचार और राजनेता के नैतिक पतन एवं आज के जमाने में भी अंधविश्वास को बढ़ावा देना, उत्पन्न परिस्थितियों से लोगों को अवगत कराकर राष्ट्र के नवनिर्माण में आमजनो की भूमिका पर भी प्रश्नचिन्ह लगा दिया।
प्रतिदिन की भांति निर्णायक मंडली अनुप शेखर, भवेश तिवारी, दिलीप बैराग्य, त्रिलोचन महतो एवं जनार्दन सिंह द्वारा चयनित अभिनेता अौर अभिनेत्री को श्रेष्ठ अभिनय के लिये आज के मुख्य द्वारा पुरस्कार देकर सम्मानित किया गया।
नाटक मुख्यरूप से मैनेजर अजीत मिश्रा, दल मैनेजार दिलीप ठाकुर, किशोर ठाकुऱ, गौवर ठाकुर, रविंद्र नाथ ठाकुर, मनोज ठाकुर, दूगा चरण ठाकुर, कृष्ण पाण्डे, शिव चरण मिश्रा, लक्ष्मी नारायण ठाकुर, रन्जन ठाकुर, शिवू ठाकुर, सनातन ठाकुर, काशीनाथ ठाकुर, सपन मिध्या, स्वीटि विश्वास, सबिता अधिकारी, मिठु राय चौधरी समेत कई कलाकारों थे।

समृद्ध झारखण्ड के लिए चंदनकियारी से मुकेश मिश्रा की रिपोर्ट…

error: Content is protected !!
WhatsApp chat

हमारे मासिक पत्रिका समृद्ध झारखण्ड की अपनी प्रति आज ही सुरक्षित करने के लिए पर क्लिक करें।