आज़ादी के पहले से की जा रही थी मांग….अब हुई पूरी

देवघर : सारठ में पतरो नदी पर कुंडारो से जमुआ घाट के बीच जिला के सबसे बड़े पुल का शिलान्यास स्थानीय विधायक और झारखंड के कृषि मंत्री रणधीर सिंह द्वारा किया गया।
खास बात ये रही कि मंत्री जी पुल के शिलान्यास स्थल तक हाथी पर सवार होकर पहुंचे। बैंड- बाजे के साथ। और पीछे- पीछे स्थानीय लोगों का हुजूम।
मंत्री जी का यह अनोखा अंदाज़ स्थानीय लोगों के बीच चर्चा का विषय बना रहा। देवघर जिला के इस सबसे लंबे पुल का निर्माण पतरो नदी पर कुंडारो से जमुआ घाट के बीच होना है। लगभग 350 मीटर लंबे इस पुल के निर्माण पर लगभग 11 करोड़ की लागत आएगी।
पतरो नदी पर इस जगह पुल निर्माण की मांग आज़ादी के पहले से की जा रही थी। कई स्थानीय बुजुर्ग तो बताते है कि होश संभालते ही इस पुल के लिए यहां के लोगों को संघर्ष करते देखते आ रहे हैं।
पुल नहीं होने से स्थानीय लोग 20 से 25 किलोमीटर की दूरी तय कर मधुपुर या सारठ पहुंच पाते हैं। वर्षों के इंतज़ार के बाद पुल का शिलान्यास होते देख स्थानीय लोगों की खुशी का ठिकाना नही था।
समृद्ध झारखण्ड के लिए देवघर से सुनील कुमार की रिपोर्ट…
error: Content is protected !!
WhatsApp chat

हमारे मासिक पत्रिका समृद्ध झारखण्ड की अपनी प्रति आज ही सुरक्षित करने के लिए पर क्लिक करें।