प्रत्येक खेतों में पानी पहुंचाना केन्द्र सरकार का लक्ष्य: लक्ष्मण गिलुवा

संतोष वर्मा

चाईबासा: स्थानीय पिल्लई हॉल में जिला कृषि एवं पश्चिमी सिंहभूम के तत्वाधान में ग्लोबल एग्रीकल्चर और फूड सम्मिट 2018 को सफल बनाने के लिए रोड शो और परिचर्चा का आयोजन किया गया।

जिसमें मुख्य अतिथि सांसद लक्ष्मण गिलुवा उपस्थित थे। कार्यक्रम की शुरुवात मुख्य अतिथि के हाथों दीप प्रज्जवलित कर किया गया। जिला स्तरीय कार्यक्रम के पश्चात 29 एवं 30 नवम्बर 2018 को राज्य स्तर पर टाना भगत स्टेडियम खेलगांव रांची में किया जाना है। यह कार्यक्रम कृषकों की आय 2022 तक दोगुनी करने की दिशा में प्रयास है।

29 एवं 30 नवम्बर को राज्य स्तरीय कार्यक्रम में जिले से 300 कृषक भाग लेंगे। पपीता, शरीफा, चिरौंजी तथा इमली जैसे जैविक कृषि को बढ़ावा देने के प्रयास से रांची में किसान भागीदारी निभायेंगे।

चेम्बर ऑफ कॉमर्स के अध्यक्ष नीतिन प्रकाश ने कहा कि 472 एकड़ भूमि का आवंटन जिला प्रशासन द्वारा किया गया है। जो उद्योगपति के द्वारा चिन्हित नहीं किया गया है। उपायुक्त पश्चिमी सिंहभूम अरवा राजकमल ने कहा कि खुशी का अवसर है जिसमें विश्व स्तरीय कार्यक्रम होने वाला है, आर्थिक व्यवस्था का रीढ़ है। कृषि की बड़ी समस्या जमीन है खूंटपनी में जनता का सहयोग मिल रहा है।

झींकपानी में भी प्रयास किया जा रहा है। बंदगांव में व्यवसायिक परियोजना केला बागान तैयार है जिसका सहयोग जिला प्रशासन करेगी। प्रसंस्करण इकाई मनोहरपुर में भी लगाने का प्रयास किया जा रहा है। हर प्रखण्ड में मॉडल एकत्रित खेती करने का प्रयास करें ताकि प्रचुर मात्रा में खेती हो सके।

किसान जब एकत्रित होंगे तो सफल होंगे क्योकि अधिक किसान खेती करेंगे तो प्रसंसकरण अच्छी होगी। खाद्य शिखर सम्मेलन से आप कुछ सीख के आएं और उपयोग करें।

इसके साथ पुस्तिका का विमोचन कृषि विभाग के द्वारा किया गया। एवं सांकेतिक फीड का वितरण कुछ कृषको को किया गया।

सांसद लक्ष्मण गिलुवा ने कहा कि माननीय मुख्यमंत्री का लक्ष्य है 2022 तक कृषकों की आय दोगुनी करनी है। गांव में रहने वाले किसान मेहनत ज्यादा करते हैं, तकनीकि के अभाव में भी करते हैं। आज कई प्रकार के कृषि तकनीक हैं।

हमारा फसल धान के बाद गेंहु साथ ही रबी फसल भी हो। इस सोच के साथ सरकार कार्य कर रही है। नया तकनीक की जानकारी एवं प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना से प्रत्येक खेतों में पानी पहुंचाना केन्द्र सरकार का लक्ष्य है। सरकार का बजट गांव एवं ग्रामीण के विकास पर है। अन्त में ग्लोबल फूड सम्मिट कृषि रथ को सांसद, उपायुक्त ने हरीझंडी दिखाकर रवाना किया। कार्यक्रम में जिले के कृषक एवं कृषि विभाग के पदाधिकारी उपस्थित थे।

error: Content is protected !!
WhatsApp chat

हमारे मासिक पत्रिका समृद्ध झारखण्ड की अपनी प्रति आज ही सुरक्षित करने के लिए पर क्लिक करें।