Samridh Jharkhand
Fastly Emerging News Portal from Jharkhand

टिकट के लिए 51 हजार आवेदन शुल्क रख झामुमो ने किया छल: भाजपा

मूलवासियों व आदिवासियों को धोखा

0 14

- sponsored -

- Sponsored -

रांची: टिकट के लिए 51 हजार का आवेदन शुल्क रखकर झामुमो ने प्रदेश के आदिवासियों व मूलवासियों को छलने का काम किया है। जिस पार्टी के संस्थापक शिबू सोरेन ने गरीबों के हक के लिए 50 साल पहले लड़ाई लड़ी, आज झामुमो उन्हीं को मारने पर तुला है। ये बातें गुरुवार को भाजपा कार्यालय में पार्टी प्रवक्ता प्रतुल शाहदेव ने कही।

उन्होंने कहा कि झामुमो की आंतरिक मनसा कभी नहीं रही, कि समाज के आखिरी पंक्ति में खड़े आदिवासी व मूलवासी को उनका हक मिले या फिर राजनीतिक तौर पर वे मजबूत हों। श्री शाहदेव ने कहा कि झामुमो ने अपना स्टैंड इस बाबत साफ नहीं किया है कि टिकट देने के बाद उनसे और कितने लाख लिए जाएंगे। भाजपा प्रवक्ता ने कहा कि यहां कार्यकर्ताओं की इज्जत होती है और सभी को समान मौका दिए जाते हैं। पार्टी आवेदन के एवज में कोई शुल्क नहीं ले रही। पूरे प्रदेश के कार्यकर्ताओं की राय को मंगाकर पार्टी आगे बढ़ रही है।

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

भाजपा प्रवक्ता ने कहा कि महागठबंधन से सभी का भरोसा उठ चुका है। हेमंत सोरेन व बाबूलाल मंराडी सिर्फ सत्ता प्राप्ति के लिए जुदा-जुदा चल रहे हैं। एक-दूसरे के नेतृत्व इन्हें स्वीकार नहीं।

कहा कि चारा घोटाले में सजा काट रहे लालू यादव से हाथ मिलाने का मामला हो या फिर भ्रष्टाचार की जननी कांग्रेस के साथ खड़े रहने का। झामुमो का एकमात्र मकसद सत्ता प्राप्त करना है। प्रतुल ने कहा कि कांग्रेस के प्रदेश कार्यकारी अध्यक्ष विधायक इरफान अंसारी का बयान महागठबंधन के हिडन एजेंडा को साफ दिखाता है। इसमें कहा गया था कि महागठबंधन सरकार के आने के बाद लालू यादव को जेल से निकाला जाएगा। ये इनके मकसद को चरितार्थ करता है। उन्होंने कहा कि जनता इनके मनसे को भांप चुकी है और आगामी चुनाव में इन्हें बाहर का रास्ता दिखाने का काम करेगी।

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -